समर्थक

Wednesday, 21 July 2010

“खटीमा में हालात् बदतर हुए!” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”)

पाँच दिनों से लगातार हो रही बारिश से
आज 21-07-2010 को खटीमा में
बाढ़ से हालात और बिगड़ गये!
कल की शाम 5 बजे की  तस्वीर देखिए-
IMG_1719आज शाम 6 बजे मेरे घर के सामने राष्ट्रीय राजमार्ग।
IMG_1736पानी देखने को इकट्ठे हुए नगर के लोग।
IMG_1733मेरे घर के पीछे जलमग्न घरों का दृश्य।
IMG_1725मेरे घर के बाईं ओर राष्ट्रीय राजमार्ग।
IMG_1730मेरे घर के दाईं ओर राष्ट्रीय राजमार्ग। IMG_1717 जलमग्न खेत और घर-मकान।
IMG_1726
और यह है अब से ठीक 15 मिनट पूर्व 7-40 पर ली गई,
मेरे गेट (आंगन) में आते हुए बाढ़ के पानी की तस्वीर।

25 comments:

  1. ओह ! यह तो भयंकर बाढ़ है ।
    बचपन में हम भी यह नज़ारा देख चुके हैं अपने गाँव में ।
    आशा करते हैं कि जल्दी ही इससे निज़ात पाएंगे आप।

    ReplyDelete
  2. राष्‍ट्रीय पानी मार्ग परंतु व्‍यवस्‍था पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला। यह पानी उनका कुछ नहीं कर सकता क्‍योंकि उनकी आंखों से उतरा पानी है यह।

    ReplyDelete
  3. पानी का जानलेवा रूप। शुक्र है कि संचार व्‍यवस्‍था चालू है, यह भी कम नहीं है।

    ReplyDelete
  4. प्रकृति सबको बचाए यही कामना है

    ReplyDelete
  5. ye to bahut gadbad hai..
    accha nahi lag raha hai dekh kar..
    aap log apna khayal rakhiye..
    hamari prarthna aapke saath hai...

    ReplyDelete
  6. It must be terrifying..govt. is so inactive

    ReplyDelete
  7. अति हर चीज की बुरी है

    ReplyDelete
  8. थोड़ा पानी इधर भेज दीजिये… उज्जैन-इन्दौर में अभी तक ठीक से एक बार भी बारिश नहीं हुई…

    ReplyDelete
  9. काश हमारे देश के व्यवस्थापक इस पानी के प्रबंधन के बारे में कुछ सोचते.

    ReplyDelete
  10. baadh achi chij nahin hai mayank ji !

    lekin baadh sookhe se behtar hai..

    shyad sookha zyada takleefdeh hota hai


    prabhu aapko aur aapke parivar ko, aapke gaon ko paani se surakshit rakhe, yahi kaamna karta hoon......

    ReplyDelete
  11. यहाँ लुधियाना के आसपास के गावों, कस्बों में भी कुछ कुछ ऎसे ही हालात बने हुए हैं....

    ReplyDelete
  12. ओह!

    मंगलकामनाएँ.

    ReplyDelete
  13. पानी देखने को इकट्ठे हुए नगर के लोग।
    ...
    यानी एक ही जगह पर पानी भरा हुआ है और आप उसे बाढ बता रहे हैं।

    ReplyDelete
  14. ये तो बहुत बुरा हाल है………संभल कर रहियेगा।

    ReplyDelete
  15. ओह ! आपके घर मे बाढ का पानी.

    बिजली तो बन्द करना पडा होगा.

    ReplyDelete
  16. ताजा स्थिति की जानकारी दीजिएगा।

    ReplyDelete
  17. aadarniya sir ,
    is wakt aapke yahan ki sthiti badi gambhir hai.asha karti hun ki aap jaldi hi is paristhiti se ubar jayenge.hamaari shubh kamna aapke saath hai.
    poonam

    ReplyDelete
  18. अरे बाप रे खटीमा में तो भयंकर बारिश हो रही है! आपने चित्रों के साथ सुन्दरता से प्रस्तुत किया है! क्या अभी भी बारिश हो रही है या रूक गयी है?

    ReplyDelete
  19. aadarniy sir,
    ab aapke yahan baadh ke halat kaise hai. aapis samay vikat paristhitiyon se jujh rahe hai. ummid karti ki ab halat behatar honge.mere blog par mujhe aapka intajaar rahega.
    poonam

    ReplyDelete
  20. पूरा देश ही बारिश में बाढ़मयहो रहा है...यही विडंबना है.

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।