समर्थक

Monday, 24 May 2010

“नैनीताल के नजारे!” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”)

IMG_1203
IMG_1206
IMG_1208
IMG_1210
IMG_1229 IMG_1222 
IMG_1238 IMG_1244IMG_1249 IMG_1271
IMG_1284IMG_1250
IMG_1273 IMG_1212

17 comments:

  1. अरे वाह आप तो बहुत सुन्दर चित्र ले आये हैं

    ReplyDelete
  2. कमाल के फोटों, बिलकुल नैनीताल की ही तरह शांत और खूबसूरत!

    ReplyDelete
  3. मै भी कल वहा था . आपने नोट किया होगा झील सिकुड रही है

    ReplyDelete
  4. इतनी गर्मी में नैनीताल की सैर करा दी...चित्रों के माध्यम से ही सही.....सुन्दर फोटोग्राफी

    ReplyDelete
  5. सुंदर चित्रों के साथ....सुंदर पोस्ट...

    ReplyDelete
  6. चित्रों के ज़रिये हमने भी नैनीताल घूम लिया. सुन्दर पोस्ट.

    ReplyDelete
  7. आहा आनन्द विभोर हो गये

    ReplyDelete
  8. वाह जी , नैनीताल की याद आ गई ।

    ReplyDelete
  9. बहुत ख़ूबसूरत तस्वीरें! देखकर तो अभी नैनीताल जाने का मन कर रहा है!

    ReplyDelete
  10. I had visited Nainital in 2000 . You reminded me everything through these pictures. Thanks!

    ReplyDelete
  11. पुत्र
    तुम शब्दो के दंगल मे सिर्फ़ फ़ोटो लगा रहे हो, लगता है सब ऊर्जा खत्म हो गई है
    कम से कम दो चार शब्द भी लिख देते तो नाम कायम रहता
    पापा जी

    ReplyDelete
  12. हे स्वर्गवासी पापा जी!
    आपकी सलाह का ध्यान रक्खेंगे!

    परलोक में माता नयना देवी के
    कोप से बचकर रहना!

    ReplyDelete
  13. आप बहुत अच्छे एक फोटो ग्राफर भी हैं.सचमुच आनंद आ गया. आपका धन्यबाद!!

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।